भारत
Trending

तृणमूल कांग्रेस को जड़ से उखाड़ने के जी तोड़ मेहनत बीजेपी :

संगबाद भास्कर न्यूज़ डेस्क : राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बंगाल के मालदा में रैली को संबोधित किया और आरोप लगाया कि ‘सीएम ममता ने किसानों के साथ अन्याय किया है’। “बंगाल में ममता दीदी ने किसानों के साथ बहुत बड़ा अन्याय किया है।

PM ने किसान सम्मान निधि के तहत एक साल में 6,000 रुपए किसानों के सम्मान के लिए देने का फैसला किया था। लेकिन ममता दीदी ने अपनी जिद के कारण इसे बंगाल में लागू नहीं होने दिया। इसने 70 लाख से अधिक किसानों को इसके लाभ से वंचित रखा है।” पीएम बीजेपी नेता ने कहा- “आज जब बंगाल के करीब 25 लाख किसानों ने केंद्र सरकार को किसान सम्मान निधि योजना के लिए अर्जी भेजी, तो ममता जी कहती हैं कि मैं भी योजना लागू करूंगी। ममता जी अब चुनाव आ गए हैं। अब पछताए होत क्या, जब चिड़िया चुग गई खेत।” उन्होंने आगे कहा- “मैंने 10 जनवरी को कृषक सहयोग और सुरक्षा अभियान की शुरुआत की थी। हमने कहा था कि लगभग 40 हजार ग्रामसभा में आज 35 लाख किसान कृषक सुरक्षा अभियान से जुड़ गए हैं। मुझे खुशी है कि लगभग 33 हजार ऐसे गांव तक हम पहुंच पाए हैं और लगभग 30 हजार हमारी कृषक ग्रामसभा हो चुकी है, जिसके अंतर्गत कृषक सहभोज का कार्यक्रम हुआ है। आने वाले समय में हम 40 हजार तक पहुंच जाएंगे।”बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष ने मालदा के शाहपुर गांव में ‘कृषक सुरक्षा सह-भोज’ के तहत किसानों के साथ भोजन भी किया। उन्हें खिचड़ी और सब्जी परोसी गई। उन्होंने कहा कि “बंगाल में हमारे किसानों, गरीब लोगों और श्रमिकों को वो आर्थिक सहायता नहीं मिली, जिसके वो हकदार थे। इस पैरामीटर पर राज्य 29 में से 24 वें पायदान पर है। सिंचाई और भंडारण की सुविधा न के बराबर है। कुछ महीने पहले, पीएम मोदी ने 100 वीं किसान रेल का उद्घाटन किया, एक ऐसी पहल जो किसानों को अपने उत्पादों को देश में कहीं भी आसानी से ले जाने में मदद करेगी। मोदी जी ने MSP लागत से डेढ़ गुना देना तय की। एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड में 1,500 करोड़ रुपये और 3 प्रोजेक्ट सेंक्शन किए।”उन्होंने अंत में कहा कि “मैं प्रण करता हूं कि नरेन्द्र मोदी जी के आशीर्वाद से बंगाल में हम कमल खिलाएंगे और उसके बाद बंगाल का विकास तेजी से होगा और किसानों का विकास भी पूरी तरह से होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button