भारत
Trending

बिहार: प्रशांत किशोर के घर पर चला बुल्‍डोजर, चहारदीवारी तोड़ी, बक्‍सर प्रशासन ने बताई ये वजह :

संगबाद भास्कर न्यूज़ डेस्क : बिहार के बक्‍सर में प्रशासन ने चुनावी रणनीतिकार और जनता दल यूनाइटेड के पूर्व नेता प्रशांत किशोर के पुश्‍तैनी घर की चहारदीवारी तोड़ दी है।

इसी के साथ घर के ब्रह्म स्‍थान को भी तोड़ दिया गया है। प्रशासन ने इस कार्रवाई के बाद खाली हुई जमीन कब्‍जे में ले ली है। इस बारे में फिलहाल प्रशांत किशोर की कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

मिली जानकारी के अनुसार एनएच-84 को फोर लेन बनाए जाने के लिए आजकल जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई चल रही है। इसी क्रम में प्रसिद्ध चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के पुश्‍तैनी घर का कुछ हिस्‍सा अधिग्रहित किया गया है। शुक्रवार को बुल्‍डोजर के साथ पहुंचे अधिकारियों-कर्मचारियों ने प्रशांत किशोर के घर की चहारदीवारी और ब्रह्म स्‍थान को ध्‍वस्‍त करा दिया।

सरकारी अमला पहुंचते ही भीड़ जुटी
बक्‍सर में प्रशांत किशोर के घर सरकारी अमला पहुंचते ही वहां आसपास के लोगों की काफी भीड़ जुट गई। अधिकारियों ने निर्देश दिया और 10 से 15 मिनट के अंदर कार्रवाई पूरी कर ली गई। प्रशांत किशोर के घर की चहारदीवारी और गेट को तोड़ दिया गया। इसके बाद ब्रह्मस्‍थान पर बुल्‍डोजर चला। इस दौरान किसी ने इस पूरी कार्रवाई का कोई विरोध नहीं किया। हालांकि कार्रवाई के दौरान जुटे लोगों के बीच अधिकारियों ने अपनी ओर से चहारीदवारी और गेट तोड़े जाने की वजह स्‍पष्‍ट कर दी थी।

पिता ने बनवाया था मकान
बक्‍सर में प्रशांत किशोर का ये मकान उनके पिता श्रीकांत पांडेय ने बनवाया था। प्रशांत यहां रहते नहीं हैं। मिली जानकारी के अनुसार उन्‍होंने अभी तक इस जमीन का मुआवजा भी नहीं लिया है। प्रशासन का कहना है कि पूरी कार्रवाई नियमों के तहत की गई है।

एनआरसी पर मतभेद के बाद नीतीश से हुए थे अलग
प्रशांत किशोर कभी सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीब माने जाते थे। वह उनके चुनावी रणनीतिकार माने जाते थे। सीएम नीतीश ने उन्‍हें जद यू में राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष बनाया था। उन्‍हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया था। लेकिन बाद में एनआरसी के मुद्दे पर मतभेद के चलते वह जद यू से अलग हो गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button