भारत
Trending

लखनऊ में शूटर गिरधारी सिह की मृत्यू :

संगबाद भास्कर न्यूज़ डेस्क : मठभेर में शूटर गिरधारी झारियो के पीछे से गोली चलाई पुलिस अधिकारियों को गोली लगी।

३ पुलिस गोली लगने से घायेल पाए गए। गिरधारी वाराणसी का रहने वाला था।वह मुख्य शूटर गिरधारी सिंह अजीत सिंह की हत्याकांड में भी गिरधारी ने हमला किया। पुलिस कस्टडी से भागने पर उसकी मृत्यु हो गई। गिरधारी 2001 में लूट का पहला मुकदमा दर्ज किया गया था।१ फरवरी २०१९ में अजीत सिंह की हत्याकांड में मुकदमा दर्ज किया गया था।इसके बाद पुलिस वालों ने झाड़ियों को चारों तरफ से घेर लिया और गिरधारी को आत्मसमर्पण की चेतावनी देने लगे। उसने एक बात न सुनी और छीनी हुई पिस्टल से बार-बार फायर करता रहा। जवाबी कार्रवाई में उसे पुलिस की एक गोली लग गई और वह चिल्लाता हुआ गिर गया। पास जाकर देखा गया तो उसकी सांसे चल रही थीं, जलधिही सरकारी गाड़ी द्वारा राम मनोहर लोहिया इमरजेंसी में भेजा गया। लेकिन वहां इलाज के दौरान गिरधारी की मृत्यु हो गई।गिरधारी पुलिस रिमांड में था और पुलिस उससे पूछताछ कर रही थी और आज उसकी रिमांड खत्म होने वाली थी। 6 जनवरी को विभूतिखंड में ही अजीत सिंह की हत्या हुई थी। 11 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने गिरधारी को गिरफ्तार किया था। उस वक्त उसके पास से अवैध असलहा बरामद हुआ था।अजीत सिंह हत्याकांड के मुख्य शूटर गिरधारी उर्फ डॉक्टर से रिमांड के दूसरे दिन यानी 14 फरवरी को भी पूछताछ की गई थी।गिरधारी के मोबाइल में फरार शूटरों के मोबाइल नंबर भी मिले हैं। पुलिस उनके पुराने रिकॉर्ड खंगाल रही है। पुलिस ने मोबाइल को फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है।लखनऊ पुलिस ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख और हिस्ट्रीशीटर अजीत सिंह हत्याकांड में तीन दिन की रिमांड पर चल रहे आरोपी गिरधारी को सोमवार तड़के एनकाउंटर में मार गिराया। वह असलहा छीनकर भागने की कोशिश कर रहा था जिसके चलते पुलिस को उस पर गोली चलानी पड़ी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button