भारत
Trending

सिलीगुड़ी में आचार्य श्री महाश्रमण जी की विदुषी सुशिष्या साध्वी श्री डॉक्टर पीयूष प्रभा जी के पावन सानिध्य :

संगबाद भास्कर न्यूज़ डेस्क : 157 वा मर्यादा महोत्सव दिनाक 19 फरवरी 2021 को आचार्य श्री महाश्रमण जी के पावन सानिध्य में रायपुर छत्तीसगढ़ में मनाया जा रहा है।स्थानीय तेरापंथ भवन सोमानी मिल कंपाउंड सिलीगुड़ी में आचार्य श्री महाश्रमण जी की विदुषी सुशिष्या साध्वी श्री डॉक्टर पीयूष प्रभा जी के पावन सानिध्य में मनाया गया।

कार्यक्रम का प्रारंभ साध्वी श्री के नवकार महामंत्र के साथ किया गया।मर्यादा गीत का संगान साध्वीवृंद द्वारा किया गया।तद्पश्चात सभा के अध्यक्ष द्वारा स्वागत भाषण दिया गया।मर्यादा महोत्सव के पुनीत अवसर पर डॉक्टर साध्वी श्री पीयूष प्रभा जी ने कहा तेरापंथ धर्म संघ,सत्य का प्रकाश समतय्य की विज ओर मर्यादा का सुरक्षा कवज दिया।वि.स 1859 तक आचार्य भिक्षु ने अपनी सूझ बूझ एवं दूरदर्षिता से लोह लेखनी से मर्यादाओं को निर्वाण किया वही मर्यादा पत्र आज गण का क्षेत्र है।आज हम उन बलिदानी साधुओं को भी नमन करते है जिनोंहे उस मर्यादा पत्र पर हस्ताक्षर कर उन मर्यादाओं को अमर बना दिया।उन मर्यादाओं से संघ को दीर्घजीवन प्रदान की।आचार्य भिक्षु ने एक आचार्य की परंपरा का सूत्रपात किया।तेरापंथ धर्मसंघ की आचार्य परंपरा ने मर्यादाओं को अक्षुण रखने में जागरूक रहे।वर्तमान में आचार्य श्री महाश्रमण जी का कुशल नेतृत्व प्राप्त हो रहा है।आचार्य महाश्रमण जी का विशिष्ट मनोवल संकल्पबल की फलश्रुति है की वे अपने वचनों को
कठिन परिस्थितीयों में भी वचनों को पूर्ण किया।साधु साध्वी समाज, श्रावक समाज एक गुरु की आज्ञा में रहते है।इसीलिए ही आज तेरापंथ धर्म संघ का विश्व मे विशिष्ट स्थान है।भाग्यउदय से तेरापंथ धर्मसंघ एवं आचार्य महाश्रमण जैसे महान आचार्य प्राप्त हुए ।पुनस्च: नमन है आचार्य भिक्षु को,जयाचार्य को आचार्य तुलसी को आचार्य महाप्रज्ञ को आचार्य महाश्रमण को।
साध्वी भावना श्री जी ने गुरु को गुरु की आज्ञा को सर्वपरि बताते हुए गनभक्ति पर अपने विचार रखे साध्वी सुधा कुमारी जी ने अंदर हमारी मर्यादाएं का मधुर गीत प्रस्तुत किया।
सभा के उपाध्यक्ष मदन संचेती ने भी अपने विचार रखे,बाहर से बंगाल,बिहार के काफी क्षेत्रो से भी श्रावको की उपस्थिति दर्ज की लगभग 20 स्थानों से संघ बाहर से आये बाहर से आये सभी क्षेत्रों के प्रतिनिधियों ने आज के विषय पर अपने
विचार रखे और साध्वी श्री जी से अपने क्षेत्रो में आने का निवेदन किया,महासभा के उत्तर बंगाल आंचलिक प्रभारी मांगीलाल बोथरा,बिहार आंचलिक प्रभारी नेमचंद बैद,एवं महासभा के कार्यकारिणी सदस्य कन्यालाल बोथरा,राजकुमार बोथरा,आदि उपस्थित थे,धन्यवाद प्रस्ताव सभा के मंत्री किशन आंचलिया ने दिया संघ गीत के साथ आज का कार्यक्रम सम्पन्न किया गया कार्यक्रम का कुशल संचालन साध्वी श्री दीप्तियशा जी ने कुशलतापूर्वक किया,कार्यक्रम की पूरी कवरेज सभा की मीडिया प्रभारी श्रीमती शशिकाल बैद ने बहुत ही सुंदर रूप से की।
समाचार प्रदाता:शशिकला बैद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button